HomeContactEnglishதமிழ்
CSIR की कैंसर की दवा ने नैदानिक परीक्षणों में प्रवेश किया
विज्ञान & प्रौद्योगिकी
CSIR की कैंसर की दवा ने नैदानिक परीक्षणों में प्रवेश किया
June 08, 2020
1 min
English
  • IIIM को अग्नाशय कैंसर रोगियों में एक नई दवा के नैदानिक परीक्षण करने की मंजूरी मिली है।
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटीग्रेटिव मेडिसिन (Indian Institue of Integrative Medicine - IIIM), जम्मू एक दवा अनुसंधान प्रयोगशाला है जो वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के तहत काम करती है।
  • केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) के नई दवाओं का विभाग द्वारा यह मंजूरी दी गई है।
  • यह दवा भारतीय सफेद देवदार की पत्तियों से रासायनिक सामग्री का उपयोग करके बनाई गई है।
  • विश्व स्तर पर, अग्नाशय कैंसर से सालाना 2.5 लाख से अधिक मौतें होती हैं।
  • इस कैंसर को लाइलाज कैंसर के प्रकारों में से एक माना जाता है, क्योंकि बहुत देर से इसका पता चलता है।

Tags

जम्मूकेंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठनजम्मू और कश्मीरवैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषदअग्नाशय कैंसर
Previous Article
उपराज्यपाल ने अस्पताल आरक्षण के दिल्ली सरकार के फैसले को रद्द किया

Related Posts

एनसीएल पुणे ने स्वदेशी नासाग्रसनी स्वैब विकसित किया
June 06, 2020
1 min
© 2021, All Rights Reserved.
Made with in भारत

Language

Englishதமிழ்

Legal Stuff

Social Media